भोपालमध्य प्रदेश

कोरोना वायरस से निपटने में लापरवाही की तो हो सकती है 2 साल तक की सज़ा

Spread the love

भोपाल
कोरोना वायरस (COVID-19) से बचाव के लिए एहतियात ज़रूरी है. जो एहतियात नहीं बरतेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. मध्य प्रदेश में कार्रवाई शुरू भी हो चुकी है. खासतौर से उन लोगों पर पुलिस (POLICE) की नज़र है जो संदिग्ध मरीज़ हैं या जिनमें कोरोना पॉजिटिव मिला है. साथ ही अफवाह फैलाने या कोरोना को लेकर गलत जानकारी देने वालों पर भी कानूनी कार्रवाई की जा रही है.इसमें जुर्माने से लेकर जेल तक हो सकती है.

राजधानी भोपाल, नरसिंहपुर में कार्रवाई शुरू भी हो चुकी है. नरसिंहपुर के गोटेगांव में पुलिस ने कोरोना मरीज़ होने की खबर पोस्ट करने वाले को गिरफ्तार किया और भोपाल में 4 रेस्टोरेंट्स संचालकों पर अलग मामले में कार्रवाई की गयी.

भोपाल में कोरोना वायरस का एक पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद प्रशासन सख्त हो गया है. स्थानीय पुलिस COVID-19 पर अंकुश लगाने के लिए संबंधित कानून / विनियामक आदेशों का पालन नहीं करने वाले लोगों पर कार्रवाई कर रही है. कलेक्टर के आदेश के बाद पुलिस ने लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ कार्रवाई करना भी शुरू कर दी है.

भोपाल में 4 रेस्टोरेंट्स संचालकों पर कानूनी कार्रवाई की गयी है. इनके खिलाफ एमपी नगर थाना पुलिस ने एफ आई आर दर्ज की है. इन संचालकों ने कलेक्टर के आदेश के बावजूद लॉक डाउन में भी अपने रेस्टोरेंट खोले. एफ आई आर के बाद चारों रेस्टोरेंट पुलिस ने बंद करवा दिया है.

भोपाल में जो युवती कोरोना पॉजिटिव पाई गई है उसके खिलाफ भी स्थानीय पुलिस एफ आई आर दर्ज कर सकती है. क्योंकि दिल्ली में भी इसी तरह के एक मामले में FIR दर्ज की गई थी. ऐसे में स्थानीय पुलिस भी FIR की तैयारी कर रही है. युवती का इलाज एम्स में चल रहा है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close