इंदौरमध्य प्रदेश

इंदौर में रेलवे स्टेशन से सरवटे बस स्टैंड तक बनेगी अंडरग्राउंड रोड

Spread the love

इंदौर
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए 41,000 करोड़ रुपये की लागत वाली रेलवे की 2,000 से अधिक परियोजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास किया। उन्होंने अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत 553 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास का शिलान्यास भी किया। 27 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में स्थित इन स्टेशनों का 19,000 करोड़ से अधिक की लागत से पुनर्विकास किया जाएगा। मोदी ने रेलवे की इन परियोजनाओं को भारत के बुनियादी ढांचे में बड़े बदलाव का वाहक भी बताया। अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत इंदौर रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास कार्य का भी वर्चुअली भूमिपूजन पीएम मोदी ने किया। 494 करोड़ रुपये की लागत के इस प्रोजेक्ट को वर्ष 2027 तक पूरा किया जाएगा। योजना के तहत रेलवे स्टेशन से सरवटे बस स्टैंड तक भूमिगत मार्ग भी तैयार किया जाएगा।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने युवाओं के सपने को अपने संकल्प से जोड़ते हुए कहा कि आपके सपने, आपकी मेहनत और मोदी का संकल्प विकसित भारत की गारंटी है। विकसित भारत युवाओं के सपनों का भारत होगा और ये कैसा होगा, यह तय करने का सबसे अधिक हक भी उन्हीं को है। इस दौरान लोकसभा चुनाव में जीत के प्रति आत्मविश्वास से भरे मोदी ने फिर कहा कि उनके तीसरे कार्यकाल की शुरुआत जून से होगी। उन्होंने कहा- हम बड़े सपने देखते हैं और उन्हें साकार करने के लिए अथक परिश्रम करते हैं। तीसरी आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं। जब हम लक्ष्य प्राप्त कर लेंगे तो सोचा जा सकता है कि ताकत कितनी बढ़ जाएगी।

इंदौर में प्लेटफार्म-1 पर कार्यक्रम के लिए मंच और पीएम के भाषण को सुनने के लिए यहां दो स्क्रीन लगाई गई थीं। इस दौरान सांसद शंकर लालवानी सहित कई जनप्रतिनिधि और रेलवे अधिकारी उपस्थित थे। स्कूली विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी। सांसद लालवानी ने बताया कि 50 साल की जरूरत के लिहाज से इंदौर रेलवे स्टेशन को पुनर्विकास किया जा रहा है।

प्लेटफार्म-1 पर सात मंजिला और प्लेटफार्म-4 पर तीन मंजिला भवन बनाया जाएगा। सर्कुलेटिंग एरिया के साथ बेसमेंट में पार्किंग बनेगी। एयरपोर्ट की तर्ज पर यात्रियों को सुविधाएं मिलेंगी। बाहर से खरीदारी के लिए आने वाले यात्रियों के लिए होटल होगी। शापिंग काम्प्लेक्स भी होगा, जहां यात्री खरीददारी कर सकेंगे। दिव्यांगजन के लिए अलग से लिफ्ट होगी।

2047 तक ट्विन सिटी के रूप में विकसित होंगे उज्जैन-इंदौर :

मुख्यमंत्री डा. मोहन यादव ने सीहोर में आयोजित कार्यक्रम में कहा- रेल सुविधाओं का लगातार विस्तार हो रहा है। अमृत काल में वर्ष 2047 तक भोपाल-सीहोर-रायसेन, भोपाल-विदिशा, उज्जैन-इंदौर और उज्जैन-देवास ट्विन सिटी के रूप में विकसित होंगे। उद्योग, रोजगार में बढ़ोतरी के साथ ही महिलाओं, युवाओं और कमजोर वर्ग की प्रगति के लिए कई योजनाएं चलाईं जा रही है। भोपाल और सीहोर को जोड़कर आवागमन के साधन, आवासीय परियोजनाएं और रोजगार के अवसरों के समग्र विकास की योजना का क्रियान्वयन किया जाएगा।

प्रदेश में इन स्टेशनों का होगा पुनर्विकास :

इंदौर, मंदसौर, सीहोर, मक्सी, नागदा जंक्शन, छिंदवाड़ा जंक्शन, मंडला फोर्ट, नैनपुर, सिवनी, अनूपपुर, बिजूरी, शहडोल, उमरिया, भिंड, दतिया, हरपालपुर, मुरैना, अशोकनगर, खिरकिया, सांची, शाजापुर, शुजालपुर, नीमच, नरसिंहपुर, पिपरिया, ब्यौहारी, बरगवां, जबलपुर, उज्जैन, बीना और खंडवा रेलवे स्टेशन।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close