भोपालमध्य प्रदेश

संकट की घड़ी में गरीबों का सहारा बनी पुलिस

Spread the love

गंजबासौदा
वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को लेकर देशभर में लॉकडाउन है। लेकिन इस तालाबंदी की मार सबसे ज्यादा उन लोगों पर पड़ी है, जिन्हें रोज काम पर निकलने के बाद ही पेट भरने के लिए पैसे मिलते थे। यानी दिहाड़ी मजदूर और झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले लोगों के सामने एक बड़ा संकट खड़ा हो चुका है। ऐसे में सरकारों के अलावा कई लोग भी गरीबों की मदद के लिए सामने आ रहे हैं। स्थानीय पुलिस भी ऐसे लोगों के साथ मिलकर गरीबों के घर खाना पहुंचाने का काम कर रही है।

स्थानीय पुलिस प्रशासन की तरफ से कई जगह झुग्गी-झोपड़ियों में खाना पहुंचाने का काम किया जा रहा है। सिटी थाना प्रभारी वीरेन्द्र कुमार झा ने बताया कि उन्होंने कल से विभिन्न चिन्हित क्षेत्रों में लगभग दोनो समय 200-300 भोजन के पैकेट वितरित करवाने का कार्य प्रारंभ कराया है। जहा आवश्यकता लग रही है पुलिस के जवान स्वयं  उन तक पहुँचकर  भोजन उपलब्ध करा रहे है।

पुलिस के अलावा भी कुछ लोग हैं, जिन्होंने गरीबों का पेट भरने की जिम्मेदारी उठाई है.नगर में कई लोग इस मुहिम का हिस्सा बन रहे हैं। कुछ लोगों ने वॉट्सऐप ओर फेसबुक के माध्यम से जरूरतमंदो को खाना देने की बात शेयर करते हुए लिखा  है कि अगर आपको कोई जरूरतमंद परिवार दिखे तो तुरंत हमें बताएं, हम उनकी सहायता करेंगे। वही रेल टिकिट घर के संचालक आयुष जेन(टिल्लू) प्रमोद पान सेंटर ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों को चाय, बिस्किट की व्यवस्था करते नजर आए। आप घर पर रहकर भी आर्थिक सहयोग प्रदान करने के लिए स्थानीय प्रशासन को अवगत करा सकते है।

कल शाम नगर में आये डीएम पंकज जैन ने भी ऐसे समाजसेवीयो ओर से अपील की है कि जो जरूरतमंदो का सहारा बन उनकी मदद करना चाहते है वह स्थानीय प्रशासन को अवगत करा सकते है। ओर ऐसे लोग जो वालेंटियर के तौर अपनी सेवाएं देना चाहते वह अपने नाम पता कॉन्टेक्ट नम्बर स्थानीय प्रशासन को उपलब्ध करा सकते है। उनके नाम अभी रिजर्व रखे जाएंगे और आगे आवश्यकता पर उनसे सहयोग लिया जायेगा। लेकिन तब तक सभी नागरिक अपने घरों में रहकर प्रशासन का सहयोग करे ओर स्वस्थ रहे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close