दिल्ली/नोएडाराज्य

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने दिया जनता कर्फ्यू को समर्थन, मंच पर होंगी सिर्फ दबंग दादियां

Spread the love

नई दिल्ली                                                                                                 
शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों ने भी जनता कर्फ्यू को समर्थन देने का ऐलान किया है। रविवार को मंच पर केवल दबंग दादियां होगी और बाकी लोग प्रदर्शनस्थल से दूरी बनाकर रखेंगे। इस बाबत शुक्रवार को प्रदर्शनस्थल पर बैठक हुई। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों के विरोध करने पर निर्णय लिया गया कि रविवार को केवल चार दबंग दादियां मंच पर बैठेंगी। बाकी लोग प्रदर्शनस्थल से दूरी बनाए रखेंगे। 

शाम 5 बजे पतंग उड़ाकर कोरोना की लड़ाई में शामिल डॉक्टरों, पुलिसकर्मियां और अन्य अधिकारियों को धन्यवाद दिया जाएगा। पतंगों पर सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में नारे लिखे जाएंगे। रात 9 बजे बाद सभी लोग प्रदर्शनस्थल पर लौट आएंगे। 

अचानक वार्ताकार पहुंचे 

शुक्रवार शाम अचानक उच्चतम न्यायालय द्वारा शाहीनबाग की रोड खुलवाने के मामले में नियुक्त वार्ताकार संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन प्रदर्शनस्थल पर पहुंचे। उन्होंने लोगों को कोरोना वायरस के मद्देनजर सावधानी बरतने की सलाह दी। संजय हेगड़े ने कहा कि हमें सर्वोच्च न्यायालय ने भेजा है। हमें न्यायालय को प्रदर्शनस्थल की वर्तमान स्थिति के बारे में अवगत कराना है। साधना ने प्रदर्शनकारियों से हाथ और मुंह की साफ-सफाई का ध्यान रखने की अपील की। प्रदर्शनकारियों ने वार्ताकारों को आश्वस्त किया कि वे कोरोना के मद्देनजर पूरी सावधानी बरत रहे हैं। 

23 मार्च को सड़क बंद हुए हो जाएंगे 100 दिन 

रोड खुलवाने की याचिका पर सर्वोच्च न्यायालय 23 मार्च को सुनवाई करेगा। इस दिन सड़क को बंद हुए 100 दिन पूरे हो जाएंगे। रोड बंद होने से यहां से गुजरने वाले सात लाख लोग परेशान हैं। इन लोगों के लिए यूपी,दिल्ली हरियाणा की दूरी लंबी हो गई है। लोग आधे से दो घंटे तक मदनपुर खादर, आश्रम चौक पर जाम में फंस रहे हैं। 

कारोबार की चिंता 

शाहीनबाग के प्रदर्शन के चलते उसके आसपास स्थित 150 दुकानें बंद हैं। अब दुकानदारों के पास अपने कर्मचारियों को देने के लिए भी रुपये नहीं हैं। सर्दियों के सीजन में दुकान बंद होने से उनका कारोबार चौपट हो गया। प्रदर्शन और कोरोना के चलते दुकानदारों को आगे भी कोई उम्मीद नहीं है। प्रत्येक  दुकानदार को रोजाना 50 हजार से 1 लाख तक का नुकसान हो रहा है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close