उत्तरप्रदेशराज्य

रेमडेसिविर चुरा केवल पानी वाला इंजेक्शन लगाते थे स्टाफ, 4 आरोपी गिरफ्तार

Spread the love

 मुरादाबाद 
उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के नामचीन अस्पतालों में तैनात कर्मचारी मरीजों की जान बचाने की जगह उनकी जान जोखिम में डाल रहे थे। इंजेक्शनों की कालाबाजारी करने के लिए वह मरीजों को इंजेक्शनों की पूरी डोज न देकर पानी चढ़ा रहे थे। मृत मरीजों को लगने से शेष बचे इंजेक्शन भी चोरी कर महंगे दामों में बेच रहे थे। पुलिस पूछताछ में चारों ने चौंकाने वाला खुलासा किया। वहीं, सभी आरोपी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारियों के होश उड़ गए। कुछ ने खुदको होम आईसोलेट कर लिया, जबकि कुछ पुलिस वालों ने बेहद जरूरत के अनुसार ही बाहर जाने का फैसला किया है।

पुलिस की पुछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने कोरोना की दूसरी लहर आते ही इंजेक्शनों को चोरी कर कालाबाजारी करना शुरू कर दिया था। 22 दिन के भीतर वे 34 इंजेक्शनों की कालाबाजारी कर चुके थे। हाल ही में कांठ रोड स्थित अस्पताल में दम तोड़ने वाले एक अधिवक्ता के भी दो इंजेक्शन चोरी कर उसे 75 हजार रुपए में बेच दिए थे। पुलिस पूछताछ में चारों ने यह भी खुलासा किया सोशल मीडिया ग्रुपों पर रेमडेसिविर इंजेक्शन तलाश रहे लोगों के मोबाइल नंबर जुटा लेते थे। इसके बाद उनसे इंटरनेट कालिंग कर संपर्क करते थे। बात बनने पर इंजेक्शन की आपूर्ति गिरोह में शामिल लोगों द्वारा करवा दिया जाता था। पूछताछ में यह भी खुलासा किया लखनऊ के आलम बाग, मेरठ के मेडिकल व बिजनौर के मरीजों को भी महंगे दामों पर इंजेक्शन उपलब्ध कराए थे।
 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close