भोपालमध्य प्रदेश

राजभवन से कुलपति के एप्लीकेशन जमा करने की अंतिम तिथि में बढ़ोतरी नहीं होने से प्रोफेसरों में खलबली प्रोफेसर उज्जैन और संगीत विवि का कुलपति बनने 27 तक देंगे एप्लीकेशन

Spread the love

राजभवन ने विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन और राजा मानसिंह संगीत विवि ग्वालियर के कुलपति नियुक्त करने बायोडाटा मांगा की तिथि में बढ़ोतरी कर दी है। आवेदन करने की अंतिम तिथि अब 27  अप्रैल कर दी गई है। इसकी सूचना प्रोफेसरों तक नहीं पहुंची है, जिससे उनमें खलबली की स्थिति बनी हुई है। क्योंकि लाकडाउन होने के कारण प्रोफेसर विवि या शासन से अपने आवेदन अग्रेषित नहीं करा पाएंगे। इसलिए उन्हें लाकडाउन खत्म होने तक इंतजार करना होगा, जिसके बाद वे अपने आवेदन राजभवन भेज पाएंगे।
उज्जैन विश्वविद्यालय और संगीत विवि ग्वालियर के कुलपति की चयन प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके पहले राज्य सरकार ने कुलपति चयन के लिए नई व्यवस्था बनाई है। राजभवन चयन प्रक्रिया के आवेदन जमा करा पाता इसके पहले कोरोना वायरस के चलते देशभर में लाकडाउन कर दिया गया है। इसलिए राजभवन ने दोनों विवि में आवेदन करने की अंतिम तिथि में 27 अप्रैल तक की बढ़ोतरी कर दी है। जारी आदेश के मुताबिक कुलपति का चयन करने वाली सर्च कमेटी में विवि की कार्यपरिषद से एक सदस्य भेजा जाता था, जिसे शासन ने बदल दिया है। ईसी के स्थान पर शासन अपनी तरफ से एक सदस्य भेजेगा। हालांकि अभी सर्च कमेटी का चयन नहीं हुआ है। कुलपति चयन करने के लिए राजभवन ने आवेदन जमा कराना शुरू कर दिए हैं।

नये मापदंडों पर आएंगे विवि में कुलपति
राजभवन ने भी प्रदेश के सभी विवि को बेहतर कुलपति देने के लिए कुछ नये मापदंडों को तैयार किए हैं। इसके तहत दोनों विवि में कुलपति का चयन होगा। इसके तहत प्रदेश के प्रशासनिक विभागों के प्रमुख सचिव अपने अधिनस्त कार्यरत प्रोफेसर या दस साल का ठोस प्रशासनिक अनुभव रखने वाले अधिकारियों का बायोडाटा राजभवन भेज सकते हैं। ये बायोडाटा प्रदेश के सभी सरकारी विवि के कुलपति और देश के आईआईटी, आईआईएम और त्रिपलआईएमएस के निदेशक तक राजभवन को 27 अप्रैल तक भेज सकते हैं।

लाकडाउन के चंद दिनों पहले भेजी सूचना
राजभवन ने 27 दिसंबर को उज्जैन विवि का विज्ञापन जारी कर बायोडाटा जमा कराए थे। राजभवन ने उन सभी आवेदनों को निरस्त कर दिए हैं। उक्त सभी आवेदकों को कुलपति चयन प्रक्रिया में शामिल होने के लिए अब दोबारा से सभी फार्मेट में आवेदन करना होंगे। इसकी सूचना उन्हें लाकडाउन होने के चंद दिनों पहले भेजी गई है। इसलिए उन्हें भी 14 अप्रैल बीतने का इंतजार करना होगा।

 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close