भोपालमध्य प्रदेश

भोपाल शहर 31 मार्च तक रहेगा लॉकडाउन

Spread the love

भोपाल
 कोरोनावायरस के चलते मध्य प्रदेश में बिगड़ती स्थिति के मद्देनजर राजधानी को 31 मार्च तक लॉकडाउन करने के आदेश दिए गए हैं। रविवार को ही एक पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद शहर की सीमाएं सील कर दी गई हैं। 31 मार्च तक सभी सरकारी कर्मचारियों को घर से काम करने को कहा जा चुका है। प्रदेश के 8 जिलों जबलपुर, नरसिंहपुर, बालाघाट, सिवनी, रीवा, छिंदवाड़ा, ग्वालियर और बैतूल को लॉकडाउन किया जा चुका है। भोपाल को मिलाकर अब प्रदेश के 9 जिले लॉकडाउन हो चुके हैं। रविवार सुबह भोपाल के राजाभोज एयरपोर्ट पर एयर इंडिया की फ्लाइट से दिल्ली से भोपाल आई एक युवती में कोरोनावायरस के प्रारंभिक लक्षण पाए गए थे। शुरुआती जांच के बाद युवती को जेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

युवती के अलावा विमान में उसके आसपास बैठे 6 अन्य यात्रियों को भी आइसोलेट किया गया है। युवती की जांच के बाद पूरे प्लेन को सैनिटाइज किया गया। इसके चलते विमान ने करीब 45 मिनट की देरी से पुणे के लिए उड़ान भरी। भोपाल में कोरोना संदिग्ध मिलने के बाद कार्यवाहक मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी से पूरे मामले की जानकारी ली है। रविवार शाम तक आदेश जारी हो सकता हैं। कमलनाथ ने कहा कि कोरोना से लोगों को बचाने के लिए किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाए।

नरसिंहपुर में 14 दिन का लॉकडाउन

जबलपुर संभाग के नरसिंहपुर में 14 दिन का लॉकडाउन किया गया है। कलेक्टर दीपक सक्सेना ने बताया, ‘‘किसी भी व्यक्ति को अपने घर से निकलने की इजाजत नहीं होगी। जिले की सीमा में बाहरी लोगों का आना और यहां के लोगों के बाहर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।’’ प्रदेश के कुछ जिलों में धारा 144 लागू है। वहीं, छतरपुर में भी एक युवक पर विदेश से वापस आने की जानकारी छिपाने के आरोप में केस दर्ज किया गया है। यहां के आलोक बनर्जी कुछ दिन पहले थाईलैंड से वापस आए थे। उन्हें सर्दी और बुखार है। आलोक के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। फिलहाल उन्हें घर में ही क्वारैंटाइन किया गया है। उधर, जयपुर की एक फैक्ट्री का मजदूर मुरैना पहुंचा, उसे संदिग्ध मान आइसोलेट किया गया। बताया जा रहा है कि जिस फैक्ट्री में मजदूर काम करता था, वहां कुछ दिन पहले इटली से इंजीनियर आए थे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close