बिहारराज्य

बिहारः मदरसे में छिपे थे दिल्ली से आए मौलवी

Spread the love

सुपौल
 जब दिल्ली के निजामुद्दीन में मरकज की तबलीगी जमात को लेकर हाय तौबा मच रही थी, उसी वक्त सुपौल के एक मदरसे में 6 मौलवियों को पुलिस ने आइसोलेट किया है। जिनमें पांच मौलवी दिल्ली के रहने वाले हैं, जबकि एक मोतिहारी के। ये सभी जमात में शामिल होने के लिए 2 मार्च को दिल्ली से चले थे और 4 मार्च को बिहार के सुपौल जिले पहुंचे थे। सुपौल पहुंचने के बाद ये मौलवी आजतक मदरसे में छिपे हुए थे। मौलवियों के मदरसे में छिपे होने की गुप्त सूचना पर सदर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 6 लोगों को आइसोलेट किया है। जबकि 8 लोग बिना जांच के दरंभगा के लिए निकल गए।

4 मार्च को जमात के लिए सुपौल पहुंचे थे मौलवी
दरअसल सुपौल पुलिस को सूचना मिली कि एक मदरसे में कुछ मुस्लिम धर्म प्रचारक लंबे समय से ठहरे हुए हैं। इसके बाद सदर पुलिस ने पीपरा खुर्द मदरसा पहुंचकर जब जांच की तो वहां दिल्ली के रहने वाले पांच मौलवी मौजूद थे। ये पांचों मौलवी 4 मार्च को कुल 14 लोगों के साथ जमात के लिए सुपौल आए थे। जामा मस्जिद में कुछ दिन बिताने के बाद ये सभी 22 मार्च से पिपरा खुर्द मदरसे को अपना आशियाना बनाकर रहने लगे। लेकिन इस बीच लॉकडाउन हो जाने की वजह से ये लोग मदरसे में ही फंसे रहे। पुलिस ने इन लोगों से पूछताछ कर स्थानीय चौकीदार की निगरानी में इन्हें मदरसे में ही आइसोलेट किया है। इनकी जांच कराई जाएगी।

8 लोग बिना जांच के ही दरभंगा निकल गए
सुपौल के सदर थाना प्रभारी संदीप कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर जानकारी इकट्ठा कर कार्रवाई की। हालांकि 14 लोगों की जमात में से 8 लोग बिना जांच के दरभंगा के लिए निकल गए। संदीप कुमार ने बताया कि सुपौल के पिपरा खुर्द मदरसे में दिल्ली के रहने वाले पांच मौलवियों के साथ एक मोतिहारी के मौलवी को मदरसे में ही आइसोलेट किया गया है। दिल्ली के रहने वाले मौलवी जमात में भाग लेने के लिए दिल्ली से चलकर 4 मार्च को सुपौल आए थे। पीपरा खुर्द मदरसे में कुल 14 लोग मंगलवार की रात तक मौजूद थे। जिसमें से दरभंगा के रहने वाले 8 लोग आज सुबह बिना किसी जांच के ही दरभंगा निकल गए।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close