दिल्ली/नोएडाराज्य

पुलिसवालों के लिए लॉकडाउन में भी चल रही है मेट्रो, मिल रही फ्री सर्विस

Spread the love

 
नई दिल्ली

कोरोना के खतरे को कम करने के लिए दिल्ली में लागू किए गए लॉकडाउन की वजह से आजकल आम लोगों के लिए मेट्रो सेवाएं बंद हैं, लेकिन पुलिस सूत्रों से पता चला है कि पुलिसवालों के लिए मेट्रो अब भी चल रही है। इतना ही नहीं, ड्यूटी पर तैनात पुलिसवालों को घर, थाने या बैरक से अपने गंतव्य तक आने में कोई दिक्कत न हो, इसके लिए 5 मेट्रो लाइनों के सभी स्टेशनों पर ट्रेनें रुक भी रहीं हैं और वहां से पुलिसवालों को पिक ऐंड ड्रॉप भी कर रही हैं।
खास बात यह है कि डीएमआरसी मेट्रो में ट्रैवल करने के लिए पुलिसवालों से कोई किराया नहीं वसूल रही है। पुलिसवालों के आई कार्ड देखकर उन्हें मेट्रो स्टेशनों में एंट्री दी जा रही है। इसके लिए बाकायदा एक शेड्यूल भी तैयार किया गया है, जो सभी जिलों और यूनिटों में तैनात पुलिसवालों के बीच सर्कुलेट कर दिया है, ताकि वे इस शेड्यूल के अनुसार ड्यूटी पर आने-जाने की अडवांस प्लानिंग कर सकें।

सूत्रों के मुताबिक, मेट्रो पुलिस के डीसीपी की तरफ से इस बाबत एक विशेष मेसेज जारी किय गया था और सभी जिलों व दिल्ली पुलिस की सभी यूनिट्स के डीसीपी और पुलिस डिपार्टमेंट अन्य सीनियर अधिकारियों को इसके बारे में सूचित किया गया था। पहले 24 मार्च और उसके बाद 25 मार्च को भी यह मेसेज सभी डिपार्टमेंट्स के पुलिसकर्मियों के लिए भेजा गया था। अब मंगलवार को एक बार फिर मेट्रो पुलिस के डीसीपी ने सभी को यह सूचित किया है कि ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों को आने-जाने में कोई दिक्कत ना हो, इसके लिए मेट्रो की तरफ से स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रहीं हैं।

ऐसे में अगर किसी पुलिसकर्मी का घर, ऑफिस या ड्यूटी की जगह किसी मेट्रो स्टेशन के आसपास है और उनके पास आने-जाने के लिए कोई साधन नहीं है, तो वह फ्री में मेट्रो के जरिए अपने गंतव्य तक आ-जा सकते हैं। मेसेज में बताया गया है कि यह सुविधा 14 अप्रैल तक जारी रहेगी। मेट्रो ट्रेन अपने प्रारंभिक स्टेशन से चलकर हर स्टेशन पर रुकेगी, ताकि पुलिसवाले ट्रेन में चढ़-उतर सकें। इसके लिए जो शेड्यूल बनाया गया है, उसके थोड़ी देर पहले स्टेशन के गेट खोले जाएंगे, इसलिए सभी पुलिसवाले समय पर स्टेशन पहुंच जाएं। पुलिसकर्मी अपना पहचान पत्र दिखाकर स्टेशन में एंट्री-एग्जिट कर सकेंगे।

इसके लिए मेट्रो की रेड, येलो और ग्रीन लाइन पर दो-दो, वायलेट लाइन पर 3 और ब्लूलाइन पर 5 ट्रेनें चलाई जा रहीं हैं। चूंकि बड़ी संख्या में दिल्ली के कई पुलिसकर्मी यूपी और हरियाणा में स्थित एनसीआर के शहरों में रहते हैं। इसे देखते हुए उन लाइनों पर खासतौर से ट्रेनें चलाई जा रही हैं, जो एनसीआर के उन इलाकों तक जाती हैं, जहां से ये पुलिसवाले अपनी ड्यूटी पर आते-जाते हैं।

इन ट्रेनों का शेड्यूल इस तरह से बनाया गया है कि सुबह और शाम को, दोनों समय सवा 7 बजे से सवा 9 बजे के बीच पुलिसकर्मियों को आने-जाने के लिए हर रूट पर कम से कम 2-2 ट्रेनें मिल सकें। ब्लूलाइन पर द्वारका सेक्टर-21 से चलने वाली ट्रेनें तो नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी तक जाएंगी।

नोएडा से चलने वाली ट्रेनें भी द्वारका तक जाएंगी, लेकिन वैशाली से आने वाली ट्रेनें यमुना बैंक तक ही जाएंगी और वहां से पुलिसवालों को ट्रेन चेंज करके आगे द्वारका की तरफ आना-जाना पड़ेगा। इसी तरह कीर्ति नगर और बहादुरगढ़ के बीच तो सीधी ट्रेनें चलेंगी, लेकिन मुंडका से इंद्रलोक के बीच आते-जाते वक्त ट्रेन चेंज करनी पड़ेगी।
 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close