देश

पंजाब के बाद महाराष्‍ट्र में कर्फ्यू, उद्धव बोले- मान नहीं रहे लोग

Spread the love

मुंबई

 

मुंबई
कोरोना वायरस (Coronavirus) के सबसे ज्यादा मामले में महाराष्ट्र में सामने आए हैं। लॉकडाउन के बावजूद लोग सड़कों पर हैं। इसी के मद्देनजर पूरे महाराष्ट्र में कर्फ्यू लागू कर दिया गया है। सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि लोग बात नहीं मान रहे थे इसलिए मजबूर होकर कर्फ्यू लागू करना पड़ रहा है। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना वायरस के 86 मरीज सामने आ चुके हैं।

उद्धव ठाकरे ने कहा, 'रविवार को हमने राज्य के बॉर्डर सील किए, अब हम जिलों के भी बॉर्डर सील कर रहे हैं। हम उन जिलों में कोरोना नहीं फैलने देंगे, जो अभी तक अप्रभावित हैं।' सीएम उद्धव ठाकरे ने बताया कि ग्रॉसरी, दूध, बेकरी, मेडिकल स्टोर जैसी जरूरी दुकानें खुली रहेंगी। लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।

'धार्मिक स्थल भी बंद रहेंगे'
सीएम उद्धव ठाकरे के मुताबिक, सभी धर्म स्थल बंद रहेंगे। पुजारी और अन्य संबंधित पदाधिकारी मंदिर या अन्य स्थलों में अकेले रहेंगे और वही पूजा करेंगे। उद्धव ठाकरे ने कहा, 'आज मैं राज्यव्यापी कर्फ्यू लागू करने की घोषणा करने पर मजबूर हो गया हूं। लोग सुन ही नहीं रहे थे इसलिए हमें यह कदम उठाना ही पड़ा।'

कर्फ्यू के तहत सभी जिलों के बॉर्डर सील कर दिए हैं। एक जिले से दूसरे जिले में जाने वाली गाड़ियों को भी परमिशन नहीं है। दूध, सब्जी, राशन और दवाओं की गाड़ियां एक शहर से दूसरे शहर जा सकती हैं लेकिन उसके लिए भी पर्याप्त अनुमति की आवश्यकता होगी।

महाराष्ट्र में कोरोना ने ली तीन की जान
दूसरी तरफ कोरोना वायरस से महाराष्ट्र में अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना से उबर चुके फिलीपींस के 68 वर्षीय व्यक्ति की मुंबई के एक अस्पताल में मौत हो गई। यह कोरोना वायरस से संबंधित महाराष्ट्र में तीसरी मौत है। वहीं देश भर में कोरोना के संक्रमण के कारण जान गंवाने वालों की कुल संख्या 8 हो गई है।

बृहन्मुंबई महानगर पालिका ने एक बयान में बताया कि व्यक्ति शुरु में कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था और उसका यहां कस्तूरबा अस्पताल में उपचार किया गया। उसकी जांच रिपोर्ट का नतीजा नकारात्मक आने के बाद उसे एक निजी अस्पताल में भेज दिया गया था। उसने बताया कि व्यक्ति की रविवार रात को निजी अस्पताल में मौत हो गई।

अधिकारियों ने कहा कि इस व्यक्ति को मधुमेह और अस्थमा की शिकायत थी और उसे 13 मार्च को कस्तूरबा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसके गुर्दे खराब हो गए थे और सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। इससे पहले रविवार को मुंबई में एक शख्स की मौत की पुष्टि हुई थी। रविवार को जान गंवाने वाले शख्स तो तबीयत बिगड़ने पर 19 मार्च को मुंबई के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती किया गया था।

 

 

पहले के मरीजों को भी था डायबिटीज
19 मार्च को अस्पताल में भर्ती कराए गए इस मरीज को डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और हृदय रोग की परेशानी भी थी। 19 मार्च से ही उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी और 21 मार्च की रात करीब 11 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। इससे पहले 16 मार्च को भी कोरोना वायरस से संक्रमण के बाद एक शख्स की कस्तूरबा गांधी अस्पताल में मौत हो गई थी।

महाराष्ट्र में सबसे अधिक मामले
देश में कोरोना मरीज की संख्या 387 हो गई है जिसमें महाराष्ट्र में सबसे अधिक 89 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं। इसके अलावा 3 की मौत भी हो गई है। इसी के चलते पूरे महाराष्ट्र में लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 15 नए मामले सामने के बाद राज्य में इससे संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 89 हो गई है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close