उत्तरप्रदेशराज्य

दिल्ली के बाद बरेली में दरगाह पर जुटी भीड़ खतरे की घंटी

Spread the love

बरेली
दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात का मामला अभी पूरी तरह से शांत भी नहीं हुआ था कि बरेली की एक दरगाह में 300 से ज्यादा मुरोदों के एक साथ इक्ट्ठा होने की जानकारी सामने आ गई। लॉकडाउन में दरगाह पर शहर व आसपास के जिले से ही नहीं दूसरे प्रदेशों के मुरीद इक्ट्ठा हैं।

दरगाह का कहना है कि प्रशासन को अवगत करा दिया गया है। सुभाष नगर में कोरोना के 6 पॉजिटिव मामले मिल चुके हैं। दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात से खौफ तारी है। ऐसे में जरा सी चूक भारी पड़ सकती है। दरगाह में लोग चादरें विछाकर बैठते-लेटते हैं। यहां भी सोशल डिस्टेंसिंग का कोई ख्याल नहीं रखा जा रहा है।

दरगाह के मुख्य गेचच पर बैरिकेडिंग है लेकिन गली में फूल बेचे वाले बैठे हैं। ये ही आने वाले मुरीदों को दरगाह के पिछले गेट से भेज देते हैं। पिछल काफी दिनों से बरेली शहर, देहात के साथ रामुपर, सीतापुर, पीलीभीत जिलों से सैकड़ें मुरीद तो पहुंचे ही मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों से भी पहुंचे हैं। इसमें महिलाओं की संख्या ज्यादा है। इनके साथ बच्चे भी हैं। दरगाह कैंपस में इस लोगों को ठहराया गया है।

दरगाह से भीड़ निकलने को राजी नहीं
दरगाह प्रबंधन का दावा है कि लॉक डाउन के बाद इन्हें दरगाह कैंपस खाली करने के लिए कहा गया था, मगर ये लोग राजी नहीं हैं। 31 मार्च को दरगाह के मुतवल्ली की तरफ से एडीएम सिटी को इससे अवगत कराया गया है। लिखित में दी सूचना में रुके हुए मुरीदों की संख्या 150-200 बताई गई है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close