उत्तरप्रदेशराज्य

जौनपुर में 2 कोरोना पॉजिटिव, तबलीगी जमात में हुए थे शामिल, कानपुर-सहारनपुर में FIR दर्ज

Spread the love

 
जौनपुर/कानपुर/सहारनपुर

उत्तर प्रदेश के जौनपुर में कोरोना संक्रमित (Coronavirus in Jaunpur) दो नए मामले सामने आए हैं। दोनों ही दिल्ली में तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) में शामिल हुए थे। डीएम दिनेश कुमार सिंह ने पुष्टि की कि जिले में अब तक कुल 3 कोरोना संक्रमित मामले सामने आ चुके हैं। बता दें कि दिल्ली स्थित निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) में शामिल हुए लोगों की यूपी में तलाश जारी है। इस सिलसिले में अब तक आगरा, मुरादाबाद, कानपुर और सहारनपुर की मस्जिदों से इन्हें पकड़ा जा चुका है।
कानपुर के बाबूपुरवा इलाके स्थित एक मस्जिद से 8 विदेशी नागरिक पकड़े गए हैं जो कि दिल्ली में तबलीगी जमात में शामिल हुए थे। एसपी (साउथ) सिटी अपर्णा गुप्ता ने बताया,' उन्हें क्वारंटीन किया गया है और उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की जा चुकी है। आगे की जांच जारी है।'
 
सहारनपुर में 57 के खिलाफ केस दर्ज
इसके अलावा सहारनपुर में भी तबलीगी जमात में शामिल होने वाले 57 विदेशी नागरिकों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। एसएसपी दिनेश कुमार ने कहा,'ये विदेशी नागरिक यहां रुके हुए थे और अब उन्हें आइसोलेट कर दिया गया है। सहारनपुर के 20 लोग जो दिल्ली में शामिल होने गए थे और उन्हें वहां क्वारंटीन कर दिया गया है।'

यूपी आए 884 भारतीय और 286 विदेशी
दिल्ली में तबलीगी जमात में शामिल होकर यूपी में आए 884 भारतीयों और 286 विदेशियों को क्वारंटीन किया गया है। इनमें से कोई भी क्वारंटीन छोड़कर भागता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। साथ ही सुरक्षा व निगरानी के लिए जिम्मेदार अफसरों पर ऐक्शन होगा। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने गुरुवार को यह जानकारी दी।
 
पासपोर्ट जब्त हुए
उन्होंने बताया कि तबलीगी जमात में यूपी से शामिल होने वाले 1,172 भारतीयों और 287 विदेशियों की पहचान हो चुकी है। इनमें से 884 को क्वारंटीन किया गया है। बचे हुए जमातियों की तलाश की जा रही है। विदेशियों को पनाह देने और सूचना छिपाने वाले 32 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। साथ ही 211 के पासपोर्ट भी जब्त किए गए हैं।

सीएम बोले, सख्ती से निपटेंगे
सीएम ने कहा कि तबलीगी जमात से जुड़े जिन लोगों को क्वारंटीन किया गया है, उनकी सख्ती से निगरानी की जाए, सोशल डिस्टेंसिंग और हेल्थ के सारे प्रोटोकॉल का सख्ती से उनसे पालन करवाया जाए। यदि वे पुलिसकर्मियों या स्वास्थ्यकर्मियों के साथ सहयोग न करें और बदसलूकी करें तो उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए।

यहां से हुई पहचान

मेरठ- 304
बरेली -145
वाराणसी -197
आगरा- 104
प्रयागराज -40
गोरखपुर -187
लखनऊ कमिश्नरी- 23
लखनऊ- 69
नोएडा -70
 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close