छत्तीसगढ़

जनता कर्फ्यू: PM नरेन्द्र मोदी की अपील का छत्तीसगढ़ में कितना है असर?

Spread the love

रायपुर
कोराना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा ऐतिहातन कई निर्णय लिए गए हैं. देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की थी. इसका असर छत्तीसगढ़ में भी व्यापक तौर देखने को मिल रहा है. ​रविवार की सुबह 11 बजे तक प्रदेश के लगभग सभी शहरों में जनता कर्फ्यू का असर दिखा. रायपुर, दुर्ग, भिलाई, बिलासपुर, जांजगीर से लेकर बस्तर और सरगुजा में ज्यादातर लोग अपने घरों में ही हैं. व्यापारियों ने भी इसका समर्थन किया है और दुकानें बंद हैं.

राजधानी रायपुर के सभी प्रमुख बाजार बंद सड़कों में सन्नाटा पसरा हुआ है. पब्लिक ट्रांसपोर्ट बंद कर दिए गए हैं. लोकल बसें भी बंद हैं. रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, एयरपोर्ट सब खाली है. सड़कों पर नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग व पुलिस के जवान जरूर नजर आ रहे हैं, लेकिन आम लोगों यहां नजर नहीं आ रहे हैं. आवश्यक सेवाओं के लिए पुलिस व स्वास्थ्य विभाग के लोग टीम बनाकर अलग अलग इलाकों में घूम रहे हैं.
 
सड़कों और कॉलोनियों में सन्नाटा छाया हुआ है. पूरे बाजार बंद हैं. जनता कर्फ़्यू में लोगों का भरपूर सहयोग मिल रहा है. घरों के अंदर रहकर ही लोग समय बिता रहे हैं. भिलाई में भी इसी तरह का सन्नाटा है.
 
जांजगीर से सहयोग रोहित शुक्ला का कहना है कि जनता कर्फ्यू को जिले की जनता का समर्थन मिला है. शहर की सड़कों पर सन्नाटा है. शहर के सभी व्यापारियों ने अपने व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद कर दिए हैं. कोरोना को हराने के लिए घरों के अंदर समय बीता रहे हैं. शहर की सड़कों पर पुलिस और यातायात के जवान मास्क लगाकर तैनात हैं.

बस्तर के आदिवासी बाहुल्य दंतेवाड़ा जिले से सहयोग अब्दुल हमीद सिद्दकी ने बताया कि जिले में 4 साप्ताहिक बाजार होने के बावजूद आमजन बाजार नहीं पहुंचे हैं. शहरी के साथ साथ ग्रामीणों ने भी जनता कर्फ्यू का समर्थन यहां किया है. सड़कों पर सन्नाटा पसरा है. लोग अपने घरों में ही मौजूद हैं. कांकेर से जीवानंद हाल्दर ने बताया कि बाजारों में सन्नाटा है. लोग घरों से निकलने में परहेज कर रहे हैं.

गलियों और मुख्य मार्ग में दुकानें नहीं खुली हैं. आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सेवाएं बन्द है. स्वस्थ्य और पुलिस विभाग अलर्ट मोड पर है. बलरामपुर से उपेश सिन्हा बताते हैं कि करोना वायरस से बचाव को लेकर प्रधानमंत्री के आव्हन पर जिले की जनता ने खुद पर कर्फ्यू लगाया है. सड़के सुनी है. लोग घरों में रहकर वायरस से देश की सुरक्षा में भागीदारी बन रहे हैं.

रेलवे स्टेशन में यात्रियों की जांच की जा रही है. थर्मल एमेजिंग मशीन से यात्रियों की जांच की जा रही है. 90 से अधिक यात्री ट्रेनें रद्द हो गई हैं. रेलवे स्टेशन के एक ही गेट से यात्रियों की एंट्री हो रही है. कोंडागांव से सहयोगी विवेक श्रीवास्तव ने बताया कि जनता कर्फ्यू को लेकर जिले में लॉक डाउन के हालात हैं. शहर की सभी सड़के वीरान हैं. मुंगेली से प्रशांत शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस की महामारी से लड़ने जनता कर्फ़्यू को जबरदस्त समर्थन मिला है. नगर गांव सभी पूरी तरह बन्द हैं. सड़कों पर पसरा सन्नाटा पासर है.

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close