छत्तीसगढ़

जनता कर्फ्यू से एक दिन पहले ही राजधानी की सड़कें सूनी

Spread the love

रायपुर
कोरोना वायरस को लेकर राजधानी के लोगों में पूरी सतर्कता आ गई है इसका एक प्रत्यक्ष उदाहरण शनिवार को देखने को मिला जब प्रधानमंत्री ने रविवार को जनता कर्फ्यू का आव्हान किया था लेकिन लोगों ने पहले दिन ही अपना कारोबार बंद कर दिया। सड़कें सूनी, दुकानें बंद, दफ्तरों में अवकाश लोगों का घर से न निकलना बता रहा था कि उनका पुरजोर समर्थन है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोगों से कहा है कि वे किसी भी प्रकार की अफवाह से सावधान रहें।

आम दिनों सबसे ज्यादा व्यस्त रहने वाला जयस्तंभ चौक के रविभवन की सारी दुकानें बंद हो गई मतलब राजधानी का व्यवसाय बंद हो गया। राजधानी के दो प्रमुख बाजार सराफा व कपड़ा पूरी तरह शनिवार व रविवार को बंद रखने का निर्णय एसोसिएशन की ओर से लिया गया था जिसका सदस्यों ने पूर्ण समर्थन किया इसलिए बाजार बंद रहा। पेट्रोल पंप व जो दुकानें खुली थी वहां लंबी कतार जरूर नजर आ रही थी। सब्जी बाजार में भी भीड़ रही। खुदरा विक्रेता भी आज सड़क पर नजर नहीं आए।

रायपुर सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष हरख मालू, लक्ष्मीनारायण लाहोटी ने बताया कि जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के अनुरोध पर समर्थन करते हुए 21 मार्च को संपूर्ण सराफा बाजार बंद करने के साथ ही 22 मार्च को संपूर्ण  सराफा बंद रखने का निर्णय लिया गया। कपड़ा बाजार के अध्यक्ष श्री मुकीम ने बताया कि कोरोना से बचाव के उपाय पर हम सब साथ हैं इसलिए व्यवसाय बंद रखा, कल भी कपड़ा मार्केट बंद रहेगा। पुलिस की अलग-अलग टीम आज सडकों पर तैनात रही। इस दौरान यह देखा गया कि जरूरी सामानों के अलावा कोई और दुकानें तो नहीं खुली हैं। कहीं-कहीं अन्य सामानों की दुकानें खुली रहने पर उसे तुरंत बंद कराया गया। कहीं-कहीं पर पुलिस  मास्क लगाकर न चलने वालों को मास्क लगाकर चलने पर जोर देती रही, ताकि कोरोना से खुद और दूसरों का भी बचाव हो सके।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close