देश

जनता कर्फ्यू: रविवार को 3,700 ट्रेनें और गोएयर, इंडिगो की करीब 1,000 उड़ानें रद्द

Spread the love

 नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर 14 घंटे के जनता कर्फ्यू का काउंटडाउन नजदीक आ गया है। इसे सफल बनाने के लिए चौतरफा समर्थन के ऐलान होने लगे हैं। एक तरफ रेलवे ने रविवार को देशभर में 3,700 ट्रेनों का परिचालन रद्द करने की घोषणा की, तो दूसरी तरफ देश की दो विमानन कंपनियों, इंडिगो और गोएयर ने करीब 1 हजार उड़ानें कैंसल करने का फैसला किया।

कम-से-कम ट्रेनें चलाने पर जोर
रेलवे की घोषणा के मुताबिक, रविवार को रद्द होने वाली ट्रोनों में पैसेंजर के साथ-साथ लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें भी शामिल होंगी। रेलवे के मुताबिक, 'शनिवार और रविवार की दरम्यानी रात 10 बजे से देश के किसी भी स्टेशन से कोई पैसेंजर या एक्सप्रेस ट्रेन नहीं खुलेगी।' रेलवे बोर्ड ने शुक्रवार को जारी एक आदेश में कहा कि मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, चेन्नै और सिकंदराबाद में उपनगरीय रेल सेवाओं में भी बड़ी कटौती होगी और उतनी ही ट्रेनें चलाई जाएंगी जितने से जरूरी यात्राएं संभव हो सकें। रेलवे बोर्ड ने हरके रेलवे जोन को यह फैसला करने का अधिकार दिया कि वह रविवार को कम-से-कम कितनी ट्रेनें चलाना चाहता है।
 
अटकलों को मिला बल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस पर राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में रविवार, 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया था। उन्होंने लोगों से रविवार सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक घरों में ही रहने का आग्रह किया है। कहा जा रहा है कि जनता कर्फ्यू के जरिए सरकार यह देखना चाहती है कि कोरोना का असर बढ़ने पर लॉकडाउन की स्थिति के लिए देश कितना तैयार है। अब जब रेलवे ने इतना बड़ा ऐलान कर दिया है तो अटकलों को और बल मिलने लगा है।
 
कुल 3,700 ट्रेनें होंगी कैंसल
रेलवे बोर्ड की ओर से जारी आदेश के मुताबिक रविवार को 2,400 ट्रेनें रद्द हो जाएंगी। हालांकि, रविवार को जो पैसेंजर ट्रेनें 7 बजे सुबह परिचालन में रहेंगी, उन्हें गंतव्य तक पहुंचने दिया जाएगा। जिन ट्रेनों में यात्रियों की संख्या बेहद कम होगी, उन्हें बीच में ही रोक दिया जाएगा। आदेश के अनुसार, लंबी दूरी की मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों का रविवार सुबह 4 बजे से रात 10 बजे के बीच परिचालन बंद रहेगा। अनुमान है कि रविवार को 1,300 मेल/एक्सप्रेस ट्रेनें कैंसल होंगी।
 

करीब 1,000 उड़ानें भी रद्द
उधर, दो देसी विमानन कंपनियां, इंडिगो और गोएयर भी जनता कर्फ्यू के समर्थन में उतर गई हैं। एक ओर गोएयर ने रविवार को अपनी सारी घरेलू उड़ानें रद्द करने का फैसला किया है, तो दूसरी ओर इडिगो ने महज 40% उड़ानें संचालित करने की ही बात कही है। अनुमान के मुताबिक, दोनों कंपनियों के फैसले से रविवार को करीब 1 हजार उड़ानें रद्द हो जाएंगी। हालांकि, दोनों में से किसी भी कंपनी ने रद्द उड़ानों के टिकट के पैसे वापस करने को लेकर कोई ठोस आश्वासन अभी तक नहीं दिया है।

गोएयर ने कहा कि वह रविवार को सभी घरेलू उड़ानें रद्द कर देगी। कंपनी के मुताबिक, रविवार को अक्सर उसकी 330 उड़ानें हुआ करती हैं। वहीं, दश की सबसे बड़ी विमानन कंपनी इंडिगो का कहना है कि वह रविवार को 60% घरेलू उड़ानों को ही संचालित करेगी। कंपनी ने कहा कि रविवार को उसकी प्रायः 1,400 उड़ानें होती हैं।
 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close