छत्तीसगढ़

चिटफंड में करोड़ों रुपए ठगने वाले तीन डायरेक्टरों को रायपुर लेकर आई पुलिस

Spread the love

रायपुर
छत्तीसगढ़ में भोले-भाले लोगों को चिटफंड कंपनियों में अच्छा मुनाफा व रकम डबल कराने का झांसा देकर करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले ठगों को रायपुर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जीएम डेयरी जीएच गोल्ड नामक चिटफंड कंपनी के तीन डायरेक्टरों को मौदहापारा पुलिस प्रोडक्शन वारंट में रायपुर लेकर आई है। आरोपी सतनाम सिंह मध्य प्रदेश के देवास जेल तथा शैलेंद्र गोस्वामी एवं नरेंद्र सिंह बिलासपुर जेल में निरूद्ध थे। आरोपियों ने मौदहापारा थाना क्षेत्र के ऋषभ कॉम्पलेक्स में जीएम डेयरी जीएच गोल्ड नामक चिटफंड कंपनी का कार्यालय खोला था। वर्ष 2017 से 2019 तक लोगों से करोड़ों रुपए निवेश कराए और फरार हो गए थे। इस मामले में पुलिस ने अलग से अपराध दर्ज किया था। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गोदावरी निषाद ने थाना मौदहापारा में रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि जीएम डेयरी जीएच गोल्ड चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर शैलेद्र गोस्वामी, सतनाम सिंह रंधावा, नरेंद्र सिंह सहित अन्य डायरेक्टरों ने कम समय में रुपए दोगुना होने एवं अन्य लुभावनी स्कीम का झांसा देकर रकम जमा कराए और कुछ दिनों बाद ऑफिस बंद कर फरार हो गए। आरोपियों के विरूद्ध थाना मौदहापारा में अपराध दर्ज किया गया था। वर्ष-2017 में इस चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर दफ्तर बंद कर फरार हो गए। इस मामले में पुलिस ने अलग से अपराध दर्ज किया था।

देवास व बिलासपुर जेल में बंद थे आरोपी
एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने रायपुर पुलिस को चिटफंड के प्रकरणों प्रकरणों में संलिप्त फरार डायरेक्टरों की पतासाजी कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं। इसी क्रम में थाना प्रभारी मौदहापारा के नेतृत्व में टीम ने उक्त प्रकरण में संलिप्त आरोपी डायरेक्टर सतनाम सिंह को मध्य प्रदेश के देवास जेल तथा शैलेंद्र गोस्वामी एवं नरेंद्र सिंह को बिलासपुर जेल से प्रोडक्शन वारंट में रायपुर लेकर आई है। गिरफ्तार आरोपियों में सतनाम सिंह रंधावा (54 वर्ष) पिता बलवंत सिंह नई दिल्ली और नरेंद्र सिंह (37 वर्ष) पिता जसवंत सिंह निवासी फतेहाबाद हरियाणा का निवासी है। तीसरा आरोपी शैलेन्द्र गोस्वामी (45 वर्ष) पिता केदार गोस्वामी छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले का निवासी है।

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close