छत्तीसगढ़

कोरोना से लड़ने में जिला प्रशासन की अभिनव पहल, स्थानीय स्तर सेनिटाईजर बनाने में मिली कामयाबी

Spread the love

बलौदाबाजार
कोरोना वायरस से मुकाबला करने में तरल सेनिटाईजर की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। हाथ में इसके लेपन से वायरस का संक्रमण कुछ समय के लिए रूक जाता है।कोरोना हमले के बाद इसकी अत्यधिक मांग होने की वजह से अस्पतालों में इसकी आपूर्ति बाधित हुई थी।आर्डर के उपरांत भी इसकी आपूर्ति नहीं हो पा रही थी। इस कठिनाई का हल जिला प्रशासन के प्रयासों से निकाल लिया गया है। कलेक्टर श्री कार्तिकेया गोयल ने स्पिरिट के जरिये सेनिटाईजर बनाने के लिए जिला अस्पताल को लाईसेंस प्रदान कर दिया है। संभवतः बलौदाबाजार राज्य में प्रथम जिला है जिसने सेनेटाईजर की समस्या का तोड़ निकाल लिया है। लाईसेंस मिलने के बाद जिला अस्पताल में स्पिरिट से सेनिटाईजर बनाने का काम शुरू कर दिया गया हैं। प्रथम खेप के रूप में लगभग सवा 4 सौ लीटर तरल सेनिटाईजर तैयार की गई है। अपने इस्तेमाल के बाद इसे पुलिस विभाग, जेल सहित अन्य जरूरतमंद विभागों को भी बेचा जा रहा है। कुछ महिला स्व सहायता समूह से भी इसे बेचने को लेकर समझौता हुआ है। वे जिला अस्पताल से इसे खरीद कर जरूरतमंद लोगों को बेचेंगी। इससे उनकी भी अतिरिक्त आमदनी का रास्ता खुल गया है। इस प्रकार यह सेनिटाईजर आपात स्थिति में जरूरत को पूरी करने के साथ ही महिला समूहों की अतिरिक्त आमदनी का बढ़िया जरिया बन गया है।

जिला अस्पताल में कल शाम सेनिटाईजर तैयार किया गया। दो सौ लीटर स्पिरिट से लगभग सवा 4 सौ लीटर सेनिटाईजर बनाया गया। कलेक्टर श्री कार्तिकेया गोयल  एवं एसपी नीतु कमल स्वयं इस दौरान मौजूद थे। स्पिरिट से सेनिटाईजर बनाने वाले प्रशिक्षित तकनीकी कर्मचारियों ने इसे बनाया। बाकायदा इसका परीक्षण भी किया गया। स्पिरिट का सान्द्रण कम करने से इच्छित क्षमता का सेनिटाईजर बनाया जाता है। बाजार से अपेक्षित कम दाम पर गुणवत्ता पूर्ण सेनिटाईजर मिल गया है। संपूर्ण स्वास्थ्य विभाग की जरूरत पूरी होने के साथ ही पुलिस सहित सभी विभागों को इसे विक्रय किया जा रहा है। जिला पंचायत के माध्यम से कुछ स्व-सहायता समूहों से इसके विक्रय को लेकर भी समझौता हुआ है। ये समूह जनपद पंचायतों के जरिए ग्राम पंचायतों तक इसे मुहैया करायेंगी। महिला समूहों के प्रोत्साहन के लिए उन्हें अत्यंत रियायती दर 70 रूपये प्रति लीटर पर उपलब्ध कराया गया है। महिलाएं इसे 200 रूपये प्रति 1 सौ एमएल के हिसाब से बेचेंगी। इस अवसर पर जिला पंचायत के सीईओ श्री आशुतोष पाण्डेय, अपर कलेक्टर श्री जोगेन्द्र नायक, एडिशनल एसपी निवेदिता पॉल, सिविल सर्जन डॉ. अभय सिंह परिहार, संयुक्त कलेक्टर इंदिरा देवहारी, जिला आबकारी अधिकारी नवीन प्रताप सिंह आदि उपस्थित थे।  

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close