बिहारराज्य

कोरोना से लड़ाई: लॉकडाउन के दौरान बेवजह सड़कों पर उतरे तो होगी एफआईआर

Spread the love

पटना  
लॉकडाउन के दौरान अगर कोई बेवजह सड़कों पर गया तो उस पर केस दर्ज हो सकता है। अब पुलिस ऐसे लोगों पर शिकंजा कसने के मूड में है। पटना के रेंज आईजी संजय सिंह ने यह स्पष्ट किया है कि लॉक डाउन को मजाक बनाने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी। उन पर भारी जुर्माना वसूलने के साथ ही केस भी दर्ज किया जा सकता है। 

इसके पहले सोमवार को लॉकडाउन के दौरान सड़कों पर गाड़ियां दौड़ती रहीं। दोपहर तक अलग-अलग इलाकों में बाइक से लेकर कार से लोग घूमते नजर आये। चाय से लेकर अन्य दुकानें खुली थीं जहां लोगों की भीड़ जमा होती है। जीएम रोड में पैदल व्यक्ति के चलने तक की जगह नहीं थी। यही हाल पटना से सटे ग्रामीण इलाकों का था। लोगों पर सख्ती बरतने के लिये दोपहर के वक्त पुलिस हरकत में आयी। पटना पुलिस के तमाम बड़े अधिकारी ऑन रोड हुये। एसपी सिटी पूर्वी जितेंद्र कुमार ने कंकड़बाग, से लेकर पटनासिटी, जक्कनपुर, सुल्तानगंज सहित कई इलाकों में वाहनों की चेकिंग लगा दी। एसपी सिटी के साथ सुल्तानगंज थानेदार गुलाम सरवर ने महेंद्रू पोस्ट ऑफिस के समीप वाहनों को रोकना शुरू किया। इस दौरान बाइक और कार सवार कई युवकों को पुलिस ने पकड़ा। ग्रामीण एसपी कांतेश कुमार मिश्र ने अपनी टीम के साथ फतुहा समेत अन्य इलाकों में खुली दुकानों को बंद करवाया। 

हैंड हेडल माइक से जागरुक करेगी पुलिस 
सभी थानेदारों को अपने-अपने इलाकों में हैंड हेडल माइक से पुलिस जागरुक करेगी। आईजी ने यह चेतावनी दी है कि यदि इस कार्रवाई में कहीं पुलिस की शिथिलता या लापरवाही उजागर हुई तो संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

कई दुकानों को पुलिस ने कराया बंद 
पुलिस ने चाय-पान की दुकानों को भी बंद कराया जहां लोगों की भीड़ जमा होती है। इन सभी जगहों पर जमा होकर लोग आपस में बातचीत करते हैं जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। आईजी रेंज से लेकर एसएसपी उपेंद्र शर्मा और ग्रामीण एसपी भी शहर की सड़कों पर उतरे और लोगों को जागरुक किया। 

वाहनों की होगी गहन जांच
बिना काम के घर से निकलने पर कोई बहाना नहीं चलेगा। पुलिस हर छोटे-बड़े व प्राइवेट वाहनों की गहन जांच करेगी। सबसे पहले पुलिस यह जानेगी कि किस काम से निकले हैं। इसका प्रूफ क्या है। जो कागज आपके पास मौजूद हैं, वह सही है या नहीं। आप कहां के रहनेवाले हैं और घर के पास के बजाय दूर इलाके में क्यों आये हैं। इसके बाद जांच के दूसरे चरण में पुलिस वाहन से संबंधित सभी प्रकार के कागजों की गहन जांच कर कार्रवाई करेगी। ऐसे में बिना जरूरी काम से घर से निकलने वालों को पुलिस के पचड़े में फंसना तय है।

सिर्फ महत्वपूर्ण कामों के लिये ही घर से बाहर निकलें। जरूरी सामान खरीदने ही जायें। बेवजह घरों से सैर-सपाटा करने न निकलें। अगर पुलिस ने चेकिंग में पकड़ा तो जवाब देना पड़ सकता है वरना कड़ी कार्रवाई होगी। 
संजय सिंह, रेंज आईजी, पटना 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close