इंदौरमध्य प्रदेश

कोरोना से बचाव में लॉकडाउन में बेवजह घूमते मिले तो ऐसे मिला दंड

Spread the love

इंदौर
अंचल में लॉकडाउन के बाद भी मंगलवार को बेवजह घूमते पाए जाने पर लोगों को पुलिस ने सख्ती से घर भेजा। कई स्थानों पर ऐसे लोगों से उठक-बैठक भी लगवाई गई। इनके हाथ में पर्चा भी पकड़ाया जा रहा है, जिस पर लिखा है कि 'मैं समाज का दुश्मन हूं, मैं घर पर नहीं रहूंगा"। इसके बाद पुलिसकर्मी मोबाइल से फोटोे खींचकर वाट्सएप व फेसबुक पर भी वायरल कर रहे हैं। रतलाम में पावर हाउस रोड स्थित मंडी में बड़ी संख्या में लोग बगैर मास्क के सब्जी खरीदने पहुंचे। मंडी में तय समय तक नीलामी नहीं होने पर किसान टमाटर आदि मौके पर ही छोड़कर चले गए। कुछ दुकानें खुली होने पर एफआईआर दर्ज की गई। खरगोन में 31 मार्च तक लॉकडाउन किया गया है। रतलाम में छूट के दौरान मंडी, किराना आदि दुकानों पर सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ देखी गई। शहर सहित अंचल में कई जगह गैर जिम्मेदार लोगों को उठक-बैठक भी लगवाई गई, वहीं 100 से अधिक वाहन पुलिस थाना परिसर में खड़े करवाए।

शहर काजी, नायब शहर काजी व पेश इमामों ने स्थिति में सुधार होने तक मस्जिदों में नमाज अदा नहीं करने का निर्णय लिया है। नमकीन की दुकान खुली मिलने पर दुकानदार पिता-पुत्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। उधर, जिला प्रशासन ने दानदाताओं के सहयोग से भोजन निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर दी है। जरूरतमंदों के पास पहुंचकर भोजन के पैकेट वितरित किए जा रहे हैं। देवास के भोपाल-इंदौर रोड स्थित दौलतपुर में एक रिसार्ट खुला हुआ था और समझाइश के बाद भी जब इसे बंद नहीं किया गया तो पुलिस ने इसके मालिक पवनदीपसिंह सबरवाल के खिलाफ केस दर्ज किया है। मंदसौर में भी मंडी व दूध के लिए दी गई छूट के दौरान सब्जी खरीदने वालों की भीड़ लग गई। लोग बिना मास्क पहने व निर्धारित दूरी का पालन नहीं करते हुए आ गए।भीलवाड़ा से आई महिला की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। अभी मंदसौर से तीन और लोगों की रिपोर्ट आना है। स्वास्थ्य विभाग के अमले ने 302 गांवों में जाकर लोगों को हाथ धुलाई के तरीके व ब्लीचिंग तैयार करने की विधि बताई। झाबुआ में गुजरात व राजस्थान सीमा पर लोगों को जांच करते हुए आने-जाने दिया जा रहा है। इधर, झाबुआ में कोरोना संदिग्ध कैदी की पहली रिपोर्ट आ गई है। वह निगेटिव निकली है। अभी दो और रिपोर्ट आना शेष हैं। पुलिस प्रशासन ने चार ऑटो से सूरत से धौलपुर (राजस्थान) जा रहे 7 यात्रियों की जांच भी जिला चिकित्सालय में करवाई। जांच के बाद में उन्हें जाने दिया गया।

बड़वानी में प्रतिबंध को 26 मार्च तक बढ़ाने के आदेश दिए हैं। मंगलवार को चार लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई। इनमें दो के खिलाफ लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर व दो ऐसे लोगों के खिलाफ एफआईआर की गई है, जिन्हें आइसोलेशन में रहना था लेकि न वे बाहर घूमते पाए गए। खडवा में सब्जी, दूध, फल, कि राना सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं की दुकानें ही खुली नजर आईं। इधर, खालवा में राजस्थान से लौटे आए 45 मजदूरों रोककर इन्हें स्वास्थ्य परीक्षण के लिए खालवा अस्पताल भेजा गया। यहां सभी का स्वास्थ्य सामान्य होने पर उन्हें गांव में प्रवेश दिया गया है।बुरहानपुर को मंगलवार से दो दिन के लिए टोटल लॉक डाउन कर दिया। इंदौर-इच्छापुर राजमार्ग व अमरावती-धारणी राजमार्ग से भी यातायात पूरी तरह से नदारद रहा। शाजापुर जिले की सीमाएं सील कर दी गईं। 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close