उत्तरप्रदेशराज्य

कोरोना वायरस : पत्नी को बिना बताए बैंकॉक और पटाया घूमने वालों की खुल रही पोल

Spread the love

 कानपुर 
कोरोना वायरस के चक्कर में लोगों के छुप-छुपकर विदेश घूमने की पोल खुल रही है। दरअसल स्वास्थ्य विभाग ने विदेश से आने वालों की ट्रैवल हिस्ट्री तैयार की है। इस आधार पर उनके घर जाकर चेकअप और होम क्वारंटाइन के लिए तलाशा जा रहा है। अभी तक 42 से ज्यादा ऐसे लोग पकड़े जा चुके हैं, जिन्होंने घर में मुम्बई और कन्याकुमारी जाने का बहाना बनाया और थाईलैंड घूम आए। अब खुलासा होने से घर में क्लेश पैदा हो गई।

कोरोना पर नियंत्रण के लिए प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग विदेश से लौटने वालों की खास निगरानी कर रहा है। अभी तक 827 लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री तैयार की गई है। ये लोग 14 फरवरी के बाद विदेश घूमने गए थे। इनमें भी आधे होली की छुट्टियों के दौरान बाहर सैर-सपाटा करने गए थे।

ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिसमें बिजनेस टूर कहकर घर से निकले लेकिन थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक, पटाया और मकाऊ की ट्रैवल हिस्ट्री निकली। बिरहाना रोड और जनरलगंज के तीन व्यापारी तो होली के दौरान मथुरा-वृंदावन जाने की बात कहकर घर से निकले लेकिन फुकेट का चक्कर मार आए। धार्मिक यात्रा का खुलासा रोमांटिक टूर में होते ही उनके घर में कलह मच गई। घरवालों की नाराजगी कोरोना से ज्यादा उनकी मौज-मस्ती को लेकर है।

यही हाल सिविल लाइंस के दंपत्ति का है। 55 साल की उम्र पार कर चुके इन साहब ने 14 फरवरी की शाम बैंकॉक में गुजारी। पेशे से कारोबारी ये साहब कोच्चि में बिजनेस टूर बताकर घर से निकले थे। पांच दिन का बिजनेस टूर क्यों..पत्नी के इस सवाल पर उनका जवाब था कि कन्याकुमारी के दर्शन भी करते आएंगे। अब ट्रैवल हिस्ट्री में थाईलैंड आते ही उनकी शामत आ गई है।

यही हाल किराना बाजार से जुड़े दो व्यापारियों का है। उनके घर में तलाक की नौबत आ गई है क्योंकि दोनों ने तीन साल में थाईलैंड के अलावा कजाखिस्तान के भी दो राउंड लिए। कजाखिस्तान भी रोमांटिक सैर सपाटे के लिए चर्चित है। इस रहस्य से पर्दा भी प्रशासन द्वारा ट्रैवल हिस्ट्री के लिए की गई पूछताछ के बाद उठा। उनका पासपोर्ट घरवालों ने चेक किया तो तमाम छिपी हुई विदेश यात्राएं सामने आ गईं। उनके कारण घरवालों के निशाने पर ट्रैवल ऑपरेटर भी आ गए हैं।

ट्रैवल ऑपरेटरों के मुताबिक इसमें उनकी क्या गलती है। सारे वैध दस्तावेज होने पर ही टिकट व पैकेज बुक करते हैं। घर से बताकर जा रहे हैं या छिपाकर, इसमें उनकी कोई भूमिका नहीं है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close