बिहारराज्य

कोरोना: बिहार में वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग से हुआ निकाह, लॉकडाउन के बीच पड़ी नए रिश्‍ते की बुनियाद

Spread the love

 
पटना

बिहार में कोरोना वायरस के इफेक्‍शन को रोकने के लिए शहरी इलाकों में लॉकडाउन है। यहां अब तक COVID-19 के तीन मामले आ चुके हैं। इनमें से एक व्यक्ति की मौत हो गई है। हालात गंभीर हैं, ऐसे में सभी तरह के कार्यक्रम स्‍थगित हैं। जिन घरों में शादियां थीं, वो आगे बढ़ा दी गई हैं। हालांकि, पटना के दो परिवारों ने एक अनूठा तरीका निकाला। वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए लड़का-लड़की का निकाह कराया गया। एक तरफ लड़की वाले बैठे, दूसरी तरफ लड़के वाले। काजी ने निकाह मुकम्‍मल कराया।

सब ठीक मगर सोशल डिस्‍टेंसिंग नहीं
ANI ने इस अनूठे निकाह का वीडियो जारी किया है। दुल्‍हन के घर में लोग स्‍क्रीन के सामने जमे हुए हैं और दूसरी ओर दूल्‍हा बैठा हुआ है। काजी पूछते हैं और दोनों निकाह कबूल कर लेते हैं। हालांक‍ि वीडियो में साफ दिख रहा है कि इन लोगों ने सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन नहीं किया। लोग एक-दूसरे से सटकर बैठे हुए हैं और किसी ने मास्‍क नहीं लगाया है।

सख्‍ती से लागू कराया जा रहा लॉकडाउन
'लॉकडाउन' के दूसरे दिन, मंगलवार को लोग सड़कों पर कम नजर आए। पुलिस ने सख्‍त रवैया अपनाया और कई जगह बैरिकेडिंग कर रखी है। राजधानी पटना में हर तरफ प्रमुख चौक-चौराहों पर बैरिकेडिंग लगाकर गाड़ियों की सख्ती से जांच कर रही है। शहर में दाखिल होने वाले लोगों को पहचान पत्र या आने की वजह बताने और पुलिस की संतुष्टि के बाद ही वाहनों को दाखिल होने दिया जा रहा है। यहां के हड़ताली मोड़, डाक बंगला चौराहा, सगुना मोड़ पर बैरिकेडिंग की गई है।

 
कोरोना वायरस के चलते कई राज्यों में लॉकडाउन तो कुछ में कर्फ्यू लगा दिया गया है। ऐसे में लोगों में जहन में सवाल है कि जब दोनों हालात में घर के अंदर ही रहना है तो फिर इनमें अंतर क्या है। आसान भाषा में इनके अंतर को समझिए इस विडियो रिपोर्ट में।

मुजफ्फरपुर में लॉकडाउन का असर पूरी तरह दिख रहा। जो दुकानें खुली भी, उसे भी प्रशासन ने तत्काल बंद करवा दिया। वैशाली जिला मुख्यालय हाजीपुर में भी लॉकडाउन का असर दिख रहा है। भागलपुर और रोहतास जिले में भी मंगलवार को सोमवार की तुलना में लोग सतर्क दिखे। नालंदा जिले में भी सोमवार को पुलिस की सख्ती के बाद मंगलवार को स्थिति में सुधार नजर आया। अररिया और पूर्णिया में भी लॉकडाउन का प्रभाव देखने को मिल रहा है।
 
डीजीपी ने हाथ जोड़कर की अपील
बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडे ने कोरोना संकट के बीच सभी लोगों से अपील की है, "सभी जाति-धर्म के लोगों से अपील है कि वे इस समय सरकार को सहयोग करें।" उन्होंने कहा, "मैं हाथ जोड़कर बिहार के हर जाति समुदाय वर्ग के लोगों से अपील करता हूं कि लॉकडाउन मतलब कंप्लीट लॉकडाउन, कर्फ्यू जैसे हालात, इसमें सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं चालू रहती हैं।"
 
अबतक 537 संदिग्‍धों की पहचान
बिहार में कोरोनावायरस के संदिग्धों की संख्या लगातार बढ़ रही है। अब तक 537 संदिग्धों की पहचान की गई है, जिसमें कुल 122 संदिग्धों को आइसोलेशन से मुक्त किया गया है। इन्हें 14 दिनों के लिए आइसोलेशन में रखा गया था। इस बीच, तीन लोगों में कोरोना वायरस से संक्रमण होने की पुष्टि हुई है, जिसमें से एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। सरकार ने अन्य राज्यों से आने वाले लोगों को गांव में जाने के पहले सरकारी भवनों में रखने का निर्णय लिया है। (एजंसी इनपुट्स के साथ)

(डिस्क्लेमर: कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सोशल डिस्‍टेंसिंग बेहद जरूरी है। सब अपने-अपने घरों में रहकर ही इससे सुरक्षित हो सकते हैं। कृपया सरकार के निर्देशों का पालन करें। लॉकडाउन और कर्फ्यू को सफल बनाएं। भारत में इस महामारी को फैलने से रोकें।)

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close